महात्मा गांधी के अनुसार सात महापाप ये हैं

दोस्तों आज गांधी जयंती है,  वे हमेशा से हर भारतीय के आदर्श रहे हैं..

आइये जानते हैं महात्मा गांधी के अनुसार सात महापाप कौन से हैं

  • बिना मेहनत किये दौलत कमाना. (Wealth without work)
  • चरित्ररहित ज्ञान. (Knowledge without character)
  • नैतिकता रहित  व्यापार. (Commerce without morality)
  • सद्विवेक रहित आनंद. (Pleasure without conscience)
  • सिद्धांतरहित राजनीति. (Politics without principle)
  • मानवता रहित विज्ञान (Science without humanity)
  • त्याग रहित धर्म (Religion without sacrifice)

इनके बारे में विस्तृत जानकारी इस वेबसाइट पर जल्दी ही पब्लिश की जाएँगी..

गाँधी जयंती की हार्दिक शुभकामनाएँ

 

Leave a Comment