संगति Best Inspiring Article in Hindi

Hello दोस्तोँ, आशा है आप सब ठीक होँगे।

आज इस Article मेँ हम ‘संगति’ के Topic पर थोड़ी चर्चा करेँगे And इस पोस्ट को पढ़नेँ के बाद आप स्वयं समझ जायेँगे कि कौन हैँ जो आपकी सफलता मेँ बाधक बनकर खड़े हैँ। और कौन हैँ जो आपको सही रास्ता दिखा सकते हैँ, So lets start..

Friends इस Life मेँ सफल होनेँ के लिये ये बात बहुत ही ज्यादा मायनेँ रखती है कि आपकी संगति कैसी है Means आप कैसे लोगोँ के साथ रहते हैँ, किनके साथ घुमते-फिरते हैँ। हम या आप अपनेँ मम्मी-पापा, भाई-बहन को अपनीँ मर्जी के मुताबिक नहीँ चुन सकते, But इस Life मेँ आपके Friends कैसे हैँ, कौन हैँ? इसको Choose आप ही करते हैँ, चाहकर या न चाहकर भी।

आज हमनेँ कई व्यक्तियोँ के मुँह से एक बात सुनी है कि हम संगति के चलते ही इतनेँ बड़े मुकाम तक पहूँचे हैँ। और कई लोगोँ से ये बातेँ भी सुननेँ मेँ आईँ हैँ कि आज संगति के चलते ही हम सफल नहीँ हो पाये, असफल हो गये।

और इन नतीजोँ पर यदि गौर किया जाये तो एक बात पुरी तरह से साफ है कि आपके सफल और असफल होनेँ मेँ कहीँ न कहीँ संगति का विशेष स्थान जरूर होता है। इंसान जिन लोगोँ के साथ रहता है, धीरे-धीरे

उसके अंदर न चाहकर भी वैसे ही गुण पैदा हो जाते हैँ, चाहे वो गुण अच्छे होँ या बुरे।

कई लोग तो ऐसी बातेँ भी करते हैँ कि हमारा विश्वास इतना मजबुत है जिससे यदि हमारी संगति गलत भी हो पर उनके बुरे गुण हममेँ नहीँ आयेँगे, और वो सोँचते हैँ कि भले ही साथी बुरे होँ लेकिन अपना आचरण तो श्रेष्ठ ही बना रहेगा।

दोस्तोँ मुझे नहीँ लगता कि आप भी ऐसा सोँचते होँगे लेकिन यदि आप ऐसा सोँच रहे हैँ तो हमेँ लगता है कि आपकी सफलता की गाड़ी एकदम Slow ही चलेगी या हो सकता है कि गाड़ी रास्ते मेँ ही बंद पड़ जाये।

बहूत से किताबोँ मेँ आपनेँ पढ़ा ही होगा कि अच्छे आचरण और अच्छे स्वभाव वाले व्यक्ति पर गलत संगत का कोई Effect नहीँ पड़ता But हमेँ लगता है ये बातेँ शायद पुर्णत: सही नहीँ हैँ क्योँकि अच्छे आचरण भले हि आप मेँ होँ लेकिन बुरी संगति के चलते आपको पछताना पड़ सकता है।

यदि आपकी संगति बुरी है तो आप भी बुरी नजर से ही देखे जा सकते हैँ। किसी का मित्र चोर होगा तो भले ही उसनेँ चोरी न की हो But Future मेँ उस पर भी Doubt जरूर किया जायेगा। संगति का इंसान पर बहूत गहरा प्रभाव पड़ता है, यदि आप Positive thinking वाले हैँ लेकिन आपके Friend, Negative सोँच रखनेँ वाले हैँ, तो आगे चलकर आप भी धीरे धीर Negative सोँच रखनेँ वाले बन जायेँगे। यदि आपके दोस्त निराशावादी हैँ तो कल आप भी इसका शिकार हो सकते हैँ।

Friends, यदि आपको पंजाब जाना है तो आप पंजाब जानेँ वाले साथियोँ के साथ ही ट्रेन मेँ बैठेँगे तभी आप पंजाब पहूँचेँगे न कि उड़ीसा जानेँ वाले ट्रेन के साथियोँ के साथ जायेँगे। ठीक उसी प्रकार यदि आप अपनेँ मंजिलोँ को पाना चाहते हैँ, तो आपको उन लोगोँ का साथ चुनना होगा जो आपको अपनी मंजिलोँ को पहूँचानेँ मेँ आपकी मदद करेँ, आपका साथ देँ।

Friends यदि आपको अपनेँ मुकाम, अपनेँ मंजिल तक पहूँचना है तो इन साथियोँ का पुरी तरह से साथ छोड़ना होगा-

(1.) जो आपके Positive thinking को Negative feel करानेँ मेँ ही लगे रहते हैँ।
(2.) जो आपकी गलत आदतोँ पर टोकनेँ की बजाय उल्टा सराहना करते हैँ।
(3.) जो खुद गलत काम करते हैँ, साथ ही इस कार्य मेँ आपकी सहयोग भी मांगते हैँ।
(4.) जो अपनेँ मम्मी-पापा को Respect नहीँ देते, उनका अनादर करते हैँ।
(5.) जो दुसरोँ के बारे मेँ गलत बातेँ करते हैँ, अफवाहेँ फैलाते है और पीठ पीछे बुराई करते हैँ।
(6.) जो दुसरोँ को धोखा देते हैँ और आपसे वफादारी के वादे करते हैँ।
(7.) जो खुद तो बड़ा नहीँ सोँचते और आपकी बड़ी सोँच का मजाक उड़ाते हैँ।
(8.) जिसके लिये इंसानियत, संबंधोँ को कोई Value नहीँ, बल्कि जो सिर्फ पैसोँ को ही Value देता हो।
(9.) जो दुसरोँ की बातेँ कभी न सुनता हो बस अपनी मन मर्जी ही करे।
(10.) जो बार-बार बीते पुरानी गलतियोँ को दुहराकर आपको कमजोर बनाये।
(11.) जो जीवन मेँ अच्छी बात तो सोँचते नहीँ उल्टा अपशब्दोँ का प्रयोग करते रहते हैँ।
(12.) जो आवश्यकता के समय आपकी सही कार्य मेँ मदद करनेँ के बजाय पीठ दिखाकर भाग जाये।

Friends ऊपर बताए गये लोग किसी भी प्रकार के संबंध बनानेँ लायक नहीँ हैँ, आप एक Society मेँ रहनेँ वाले आम लोग ही हैँ न कि संत। यदि संत जैसे महान हैँ तो आप ऐसे लोगोँ को बदलनेँ की कोशिश कर सकते हैँ नहीँ तो इनको छोड़ना या इनसे दुरी बनाना ही बेहतर होगा।

यदि आपको सफल होना है तो ऐसे लोगोँ का चुनाव करना चाहिये जिन्होँने Life मेँ कुछ बड़ा Achieve किया है, जो आपको Success के बारे मेँ कुछ सिखा सकेँ। आप उन लोगोँ के साथ रहिये, उनसे संपर्क बनाइये जो आपको एक अच्छा और सफल इंसान बनानेँ के गुण आपसे Share करेँ। ऐसे लोगोँ से Contact रखेँ जो आपकी हौसला बढ़ायेँ, और आपको सही रास्ता बतायेँ। जीवन मेँ आगे बढ़नेँ के लिये एक Guidelines की जरूरत होती ही है So ऐसे Friends बनायेँ जो टांग खीँचनेँ की बजाय आपकी मदद करेँ न कि केँकड़ा की तरह बनेँ।

Friends यदि आपको अभी तक ऐसे लोगोँ से परिचय नहीँ हुआ जो आपको सही रास्ता बतायेँ तो आप रूकिये मत, घर मेँ बैठकर अवसर का Wait करनेँ के बजाय अपनेँ लक्ष्य की तरफ फोकस कीजिये, आपको कहाँ जाना है इस बारे मेँ Decide करिये And आपको मंजिल तक पहुँचानेँ मेँ कौन Guide कर सकता है उन्हेँ ढुंढिये, परिचय बनाइये क्योँकि किसी को अपनेँ लक्ष्य के बारे मेँ बताकर सुझाव माँगना, किसी की ओर दोस्ती का हाथ बढ़ाना, अपनी कोई समस्या बताना कोई शर्मिँदगी की बात नहीँ है। हजार लोगोँ मेँ कोई एक ही होगा जो आपकी मदद न करे या आपको कोई सुझाव न दे।

Friends अब आपकी Responsibility है कि आप कैसे लोगोँ के साथ रहना पसंद करेँगे।

जिन लोगोँ से आप दुर रहना चाहते हैँ, जो आपकी सफलता मेँ बाधा बन रहे हैँ उनका एक गंभीरतापुर्वक सोँचकर List बनाइये और जो Possible हैँ उन्हेँ छोड़नेँ की कोशिश कीजिये या उनसे सिर्फ काम से काम रखिये। And जो Successful बन चुके हैँ Positive thinking वाले हैँ, जो आपको सही दिशा के बारे मेँ बता सकेँ। उनसे जल्दी से जल्दी Friendship कीजिये और अच्छे संगति Choose करके अपनेँ आपको भी सफल बनाइये।

इस सिध्दांत को अपनाये कि “संगति वो है जो आपकी और दुसरोँ के सफलता की गति को बढ़ाए न कि गति को कम करे।”

Leave a Comment