संदेह करेँगे तो नहीँ मिलेगी Success

Dear friends, Life मेँ सफलता प्राप्त करनेँ के लिये आज की Date मेँ हर इंसान प्रयत्नशील है, मेँहनत कर रहा है लेकिन संदेह के चलते इंसान के पुरे प्रयत्न पर पानी फिर जाता है। इंसान की उम्मीदेँ और उत्साह तब तक बढ़ती रहती है जब तक इंसान अपनेँ आप पर विश्वास किये हूये रहता है कि एक दिन वह सफल जरूर होगा। लेकिन जब इंसान संदेह के जाल मेँ फँस जाता है तो उसका विश्वास पुर्णत: टुटनेँ लगता है और उत्साह एकदम से कम हो जाता है। इसी संदेह (जिसको मैँ सफलता की सबसे बड़ी बीमारी भी कहता हूँ।) के कारण इंसान अपनेँ सही समय को भाँप नहीँ पाता और सही Time के Waiting zone मेँ ही खोया रहता है और सिर्फ समय का इंतजार ही करता रह जाता है। संदेह से घिरे व्यक्ति को यही लगता है कि वह उचित अवसर आनेँ के बाद ही अपनेँ सपनोँ को साकार करेगा। जो व्यक्ति अपनी योग्यताओँ पर शक करते हैँ यकीनन हमेशा वे इसी Problem से घिरे रहते हैँ कि काम को शुरू किया जाये कि नहीँ। उन्हेँ हमेशा यही Feel होता है कि अभी सही समय नहीँ आया है और वे अपनेँ आपको ही धौखा देते रहते हैँ, अपनेँ कामोँ को टालते रहते हैँ और वे अपनी दिशा खोज नहीँ पाते और यदि दिशा मिल भी जाये तो वो तय नहीँ कर पाते कि उन्हेँ क्या करना है और इधर उधर भटकते रहते हैँ।

संदेह से पीछा छुड़ानेँ के लिये सबसे आसान तरीका यही है आप अपनेँ अंदर विश्वास पैदा कीजिये। मन मेँ विश्वास जगाइये कि आपनेँ जो भी काम शुरू किया है उसमेँ आप गारेन्टीड Successful होँगे और आपको सफलता जरूर मिलेगी।

अगर इंसान अपनेँ मन मेँ विश्वास रखकर सिर्फ यह सोँचे कि वह एक Best and best इंटरनेश्नल प्राइज् के लिये काम कर रहा है और जीत उसी की होगी तो यकीनन ही वह सफल होगा।

Friends विश्वास एक टानिक है जो इंसान की सारी शक्तियोँ को सक्रिय करके रखता है।

यदि कोई व्यक्ति Successful होनेँ के लिये मेहनत कर रहा है लेकिन अचानक जब वह कोशिश करना बंद कर देता है तो कहीँ न कहीँ वह संदेह की जाल मेँ फँस गया रहता है। दोस्तोँ इस बात को हमेशा याद रखेँ कि विश्वास के चलते आप हर मुश्किल का सामना करते हैँ और मुश्किल परिस्थितियोँ मेँ भी आगे बढ़ते रहते हैँ।

लेकिन संदेह से उल्टा मुश्किल परिस्थितियाँ Create होनेँ लग जाती हैँ।

मन मेँ बैठे संदेह को दुर करनेँ का एक तरीका यह भी है कि आप अपनेँ आपसे, खुद से Successful बनने सफल होनेँ और सफलता प्राप्त करनेँ के लिये मनोकामना करते रहेँ। जब तक आप खुद संदेह को मौका नहीँ देते तब तक वह आप पर बिल्कुल भी हावी नहीँ हो सकता।

Friends किसी भी चीज पर Doubt करनेँ के बजाये तुरँत फैसला लेनेँ की आदत डालेँ तभी आप तेजी से तरक्की कर पायेँगे। आपको अपनेँ मन की बात को सुनना और समझना होगा और यह भी तय करना होगा कि आपको जाना कहाँ है।

संदेह आपके कदमोँ को Success के रास्ते पर चलनेँ से रोककर ही रखेगी, संदेह के कारण आप सिर्फ बैठे ही रहेँगे और दुनिया आपसे बहूत आगे बढ़ जायेगी।

अपनेँ मन मेँ छिपे हूये डर को बाहर निकालिये और उस छिपे हूये डर को दूर फेँककर अपनेँ अंदर के विश्वास को पैदा कीजिये, अपनी असली ताकत को समझिये।

Friends संदेह पैदा होनेँ का Main reason है Negative thoughts means नकारात्मक सोँच। नकारात्मकता के चलते ही इंसान यह सोँचता है कि वह अपनेँ सफलता के काबिल नहीँ है इस तरह वह खुद पर ही Doubt करनेँ लग जाता है और यदि उसे जिँदगी मेँ थोड़ी सी ठोकर मिलती है तो वह हार मान लेता है। यदि आपको वाकई सफल होना  है तो जीत के साथ हार का भी मजा लीजिये। विफलता मिलने पर पुरी ताकत के साथ आगे बढ़नेँ की कोशिश कीजिये संदेह को अपनेँ आस पास भी आनेँ मत दीजिये।

मन मेँ सदैव विश्वास जगाइये कि आप आगे बढ़ सकते हैँ, आप आगे बढ़ेँगे, और आप आगे बढ़ रहे हैँ। आप काबिल थे, काबिल हैँ, और काबिल रहेँगे और आप कामयाब होँगे।

लेकिन एक पुरानी कहावत है कि निश्चय कर लेँ कि आप सही हैँ और आप आगे बढ़ रहे हैँ आगे बढ़ते जाइये लेकिन पुरा समय सोचनेँ और निश्चय करनेँ मेँ ही व्यतीत मत कर दीजिये।

शेक्सपियर नेँ लिखा था, ‘हमारे संदेह गद्दार हैँ। हम जो सफलता प्राप्त कर सकते हैँ, वह नहीँ कर पाते। क्योँकि हम संदेह मेँ पड़कर प्रयत्न ही नहीँ करते।’

इंसान का स्वभाव ही ऐसा होता है कि कोई काम शुरू करता है और थोड़ा सा भी संदेह होनेँ पर काम को रोक देता है और उत्साह पर पानी फिर जाता है। संदेह की बजाये इंसान को विश्वास को ज्यादा तरजीह देनी चाहिये।

So friends इस आर्टिकल को पढ़नेँ के बाद चुनाव आपके स्वयं का है कि आप संदेह को चुनेँगे या विश्वास को।

आशा है आप सही चुनाव ही करेँगे।

All The Best

Leave a Comment