शब्दों से अधिक काम बोलते हैं

कथनी से करनी भली 

दोस्तों, ज्यादातर लोग किसी काम को शुरू किये बिना ही बड़ी-बड़ी बातें हाँकना शुरू कर देते हैं. जैसे- मेरा बिजनेस एक दिन पूरे India में टॉप पर होगा, मैं ऐसा कर दूंगा, मैं वैसा कर दूँगा, बस तुम लोग देखते रहो.. मैं क्या-क्या करता हूँ…..

ये बस कुछ शब्दों से मिलकर बनने वाले वाक्य ही होते हैं लेकिन असल में बड़ी-बड़ी बातें कहने वाला व्यक्ति कुछ करता ही नहीं… बस कहता है और दूसरों को बढ़ा-चढ़ाकर अपनी बातें बताता है…

लेकिन जो व्यक्ति सही मायने में सफलता पाना चाहता है वो बातों पर कम और काम पर ज्यादा ध्यान देता है..  जब आप बड़ी-बड़ी बातें करते हैं और वह आप नहीं कर पाते तो सबके सामने आपको शर्मिंदा होना पड़ता है.  इसलिए बेहतर है कि काम करते जाइए, शब्दों को पीछे छोड़ दीजिये, क्योंकि शब्दों से अधिक काम बोलते हैं…

किसको है प्यार सबसे ज्यादा?

जब नन्हा जॉन कहता है – मैं तुमसे प्यार करता हूँ माँ

फिर अपने भी काम को छोड़ कर

वो टोपी उछालता हुआ बगीचे में झूलने चला जाता है

और छोड़ जाता है माँ को पानी भरने और लकड़ियाँ लाने के लिए

जब रोजी नेल कहती है – मैं तुमसे प्यार करती हूँ माँ

इतना कि शब्दों में बयान करना मुश्किल है

तो वो आधे दिन तक माँ को परेशान करती रही,

और जब वह खेलने गयी तो माँ ने राहत की साँस ली

मैं भी तुमसे प्यार करती हूँ माँ – इस बार फैन ने कहा

मैं कितनी खुश हूँ कि आज़ स्कूल बंद है,

इसलिए मैं आज जी भरकर तुम्हारी मदद करुँगी

और वह छोटे भाई को गोद में उठाकर झुलाती रही

जब तक कि वह सो न गया

फिर उसने झाड़ू उठाई और फर्श साफ़ किया

वह पूरे दिन काम करती रही और खुश रही

उतना ही खुश और मददगार जितना कि एक बच्चा हो सकता है

हम तुम्हें प्यार करते हैं माँ- तीनों ने फिर कहा

और सोने के लिए चले गये

आपकी समझ में उस माँ की क्या राय थी

किसको है प्यार सबसे ज्यादा उससे?

-जॉय एलियस *

Actions Speak Louder Than Words

Image Credit:- http://www.beinginthenow.org

 

Leave a Comment