नजरिया, कड़ी मेहनत, प्रेरणा और डिप्रेशन

Attitude, Hard Work, Motivation & Depression

दोस्तों आज हम आपके साथ नजरिया, कड़ी मेहनत, प्रेरणा और डिप्रेशन के बारे में कुछ छोटी-छोटी जानकारियाँ शेयर करना चाहते हैं।

Image Credit : pixabay.com

नजरिया

किसी चीज को देखने का तरीका जिसे हम नजरिया कहते हैं, यदि हम इसे बदल लें तो हमारी जिंदगी बेहतर हो सकती है । हम चाहे किसी भी फील्ड से हों यदि सफलता एक पेड़ है तो नजरिया उसकी जड़ है। आप अपनी नाकामयाबी को कैसे देखते हैं यह आपके नजरिये पर ही निर्भर करता है । पॉजिटिव सोच वाला व्यक्ति अपने नजरिये को सफलता की सीढियों पर लगाये रहता है जबकि नेगेटिव सोच वाले व्यक्ति का नजरिया सिर्फ समस्याओं और शिकायतों पर होता है ।

Positive & Negative Attitude सकारात्मक व नकारात्मक नजरिया

सकारात्मक नजरिया

दोस्तों, सकारात्मक नजरिये के बहुत से फायदे हैं । आइये इन्हें जानते हैं –

  • इससे हमारे अन्दर मोटिवेशन पैदा होता है ।
  • हमारे आसपास के लोगों को इससे प्रेरणा मिलती है ।
  • आप अपनी लाइफ को खुलकर जी सकते हैं ।
  • तनाव को खत्म करने में सहायक है ।
  • लोग आपको पसंद करने लगते हैं, सभी आपसे जुड़ना चाहते हैं ।
  • लोगों की आपके प्रति रेस्पेक्ट और वफ़ादारी बढ़ने लगती है ।
  • प्रॉब्लम सॉल्व होने लगता है ।
  • सम्बन्धों में सुधार आता है ।
  • आप अपने अनुसार माहौल तैयार कर सकते हैं ।
  • प्रॉफिट बढ़ने लगता है ।

नकारात्मक नजरिये से इसका ठीक उल्टा Result मिलता है । आइये इन्हें देखते हैं –

  • परेशानी से घिरे रहते हैं ।
  • खुद नाराज होते हुए दूसरों को भी नाराज करते हैं ।
  • हेल्थ की हालत बिगड़ी रहती है ।
  • तनाव बढ़ाते जाते हैं और बात-बात पर गुस्सा करने लगते हैं ।
  • जिंदगी में कोई मकसद नहीं रहता, बस यूँही जिंदगी गुजरती जाती है ।

हम सभी को पता है कि नकारात्मक नजरिया हमारी सफलता में सबसे बड़ी रुकावट का काम करती है इसके बावजूद हम इससे चिपके रहते हैं । हम बदलाव से डरते हैं इसलिए चीजें नहीं बदलती । हम जैसे है वैसे रहना ही पसंद करते हैं, एक गरीब व्यक्ति चाहे तो बहुत अमीर बन सकता है लेकिन वो खुद अपनी लाइफ में बदलाव लाना नहीं चाहता क्योंकि बदलाव में तकलीफें शामिल होती हैं । तकलीफों से हमें तनाव हो सकता है, इसलिए ज्यादातर आदमी रिस्क लेकर कुछ बड़ा नहीं करना चाहता । वो जैसा है वैसे ही रहना चाहता है और अपनी लाइफ को कोसते हुए अपना जीवन काटना चाहता है ।

कड़ी मेहनत Hard Work

भाग्य? मैं भाग्य के बारे में कुछ नहीं जानता । मैंने इस पर कभी भरोसा नहीं किया , और जो लोग इस पर ऐतबार करते हैं , मुझे उनसे डर लगता है । मेरे लिए भाग्य का मतलब है कड़ी मेहनत , और अवसर की पहचान ।

-लुसिल बाल

आप मेहनत करें लेकिन स्मार्ट तरह से  । जितने भी लोगों ने सफलता पाई है वे सभी अपनी सक्सेस का क्रेडिट कड़ी मेहनत को ही देते हैं । Hard Work का मतलब स्मार्ट तरीके से अपने गोल्स के प्रति लगकर काम करते रहना है जब तक कि सफलता न मिल जाए । जो व्यक्ति मेहनत करने से जी-चुराता है वह कभी भी अपने मंजिल तक नहीं पहुँच सकता । अगर आप कड़ी मेहनत करते जा रहे हैं, अपने काम के प्रति ईमानदार हैं तो धैर्य बनाये रखिये क्योंकि कड़ी मेहनत कभी बेकार नहीं जाती ।

किसी वृक्ष को काटने के लिए आप मुझे छ: घंटे दीजिये और मैं पहले चार घंटे कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा ।
– Abraham Lincoln

याद रखिये आपको कड़ी मेहनत करनी है लेकिन स्मार्ट तरह से तभी आप सफल हो सकते हैं ।

जरूर पढ़ें :  कड़ी मेहनत (Hard Work) – Life Changing Hindi Article

प्रेरणा

प्रेरणा हमारी सफलता का आधार है, यदि हमारे अन्दर प्रेरणा नहीं है तो हम जीते जी मुर्दे के समान हैं । इसी के कारण हम आगे बढ़ रहे होते हैं । लाइफ को बेहतर बनाने के लिए हमें हर दिन खुद को प्रेरित करना होता है । जब हम खुद को और दूसरों को प्रेरित करते हैं तब हम अपनी मंजिल तक पहुँच रहे होते हैं और हमारे अन्दर के मोटिवेशन के कारण ही हम वो बन पाते हैं जो हम बनना चाहते हैं इसलिए अपने आपको अन्दर से Inspire कीजिये ताकि आप छोटी शुरुआत से बड़े तक का सफ़र तय कर सकें ।

What is Motivation – प्रेरणा क्या है ?

Positive Motivation से क्या समझते हैं ?

Motivation Vs Inspiration in Hindi

डिप्रेशन

डिप्रेशन एक ऐसी स्थिति है जिसे हमारे खुद के द्वारा बनाया जाता है । बीमार, मायूस या दुखी होने से हमें किसी भी तरह का कोई फायदा नहीं होता, जबकि खुश और आनंदित रहने में ही फायदा है । यदि आप बार-बार गुस्सा करते हैं और फिर नॉर्मल हो जाते हैं तो एक दिन ऐसी स्थिति भी आएगी जब नॉर्मल होने के लिए काफी सारी तकलीफों का सामना करना पड़ेगा । मैं आपको डरा नहीं रहा बल्कि सच्चाई से रूबरू करा रहा हूँ । हम जानबूझकर गुस्सा करते हैं, गुस्सा को बढ़ाते जाते हैं और खुद ही चुनाव करते हैं किसी डॉक्टर के पास जाने की । जब हमारे ऊपर थोड़ा-सा प्रेशर आता है तब हम खुद को तनाव से जोड़ लेते हैं । डिप्रेशन में आना अभी के समय में आम बात हो चुकी है क्योंकि शायद लोग इसी में खुश रहना पसंद करते हैं, हाँ खुश शब्द का इस्तेमाल इसलिए करूँगा क्योंकि लोग गुस्सा करना, तनाव से घिरे रहना और इन सबके कारण बीमार होना चाहते हैं ।

एक्चुअल में बचपन से ही हम ऐसे माहौल में बड़े होते हैं जहाँ ख़ुशी को कम और बीमारी को ज्यादा अहमियत दी जाती है । याद कीजिए जब आप छोटे थे और ख़ुशी से उछल-कूद करते हुए कितनी मस्ती करते थे लेकिन बड़े लोग आपको चुप कराकर शांत कर देते थे और आपकी ख़ुशी पर कोई ध्यान नहीं देता था । लेकिन जब आप बीमार पड़ते थे तब वही बड़े लोग आपकी देखभाल में लग जाते थे और आपको उस दिन स्कूल भी नहीं जाना पड़ता था।

एक तरह से आप शारीरिक रूप से बीमार पड़ने की कला को सीख लेते हैं । और जब आप बड़े होते हैं, आपकी शादी होती है उसमें भी यदि आप घर के किसी कोने में थोड़ा-सा उदास बैठ जाते हैं या रूठ जाते हैं तो आप सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने लग जाते हैं । जब आप बार-बार ऐसा करते हैं तो यह आपकी आदत बन जाती है ।

एक बात याद रखिए, आप दुखी हो रहे हैं, गुस्सा कर रहे हैं और मानसिक रूप से खुद को बीमार कर रहे हैं तो इससे आपको किसी भी तरह से कोई फायदा नहीं मिलने वाला । अपने दिमाग को गरम रखकर या तनाव में रहकर आप कभी सफल नहीं हो सकते, यदि आपको सफल होना है तो अवसाद को अपनी लाइफ से हमेशा के लिए Good Bye कहना होगा । रिलैक्स रहिये, और धीरे-धीरे आगे बढिए क्योंकि आपका शांत दिमाग ही आपको एक अच्छा इंसान बना सकता है ।

खुद को Motivate करने के 5 आसान तरीके – SELF MOTIVATION

————————

दोस्तों,  नजरिया, कड़ी मेहनत, प्रेरणा और डिप्रेशन पर हमें Short में लिखना था, इसलिए हम ज्यादा Deeply नहीं लिख रहे । लेकिन जल्दी ही हम नजरिया और डिप्रेशन पर डिटेल जानकारी यहाँ शेयर करेंगे ताकि हम हर रोज खुद को बेहतर बनाते हुए आगे बढ़ सकें ।

#MotivationQuestionHub : short essay on attitude hard work motivation depression.

इस लेख पर अपने विचार हमारे साथ कमेन्ट के माध्यम से बांटे अथवा हमें hamarisafalta@gmail.com पर मेल करें ।

धन्यवाद 🙂

Leave a Comment