सफलता का दरवाजा Success Tips in Hindi

सफलता का दरवाजा

मेरे कुछ दोस्त हैं, जो बचपन में मेरे साथ पढ़ते थे। मैंने बचपन से लेकर आजतक उनकी एक बात पर बहुत गौर किया है, वे बातें बड़ी-बड़ी करते हैं लेकिन जब कुछ करने की बारी आती है तब वे कहीं गायब हो जाते हैं। स्कूल लाइफ में उनकी इच्छाएं होती थीं कि वे टॉप करें, 98% मार्क्स लायें और इसके लिए वे अपने future के रिजल्ट्स सेट करते और उसका प्रिंट लेकर किसी दीवार पर चिपका देते थे। जैसे यदि उन्हें क्लास 10th में 98 प्रतिशत का लक्ष्य बनाना है तो वे सभी सब्जेक्ट्स के मार्क्स सेट करके उसे 98 प्रतिशत का बनाते थे और उसे अपने बेडरूम में कहीं चिपका कर उसके बारे में दिन रात सोचा करते थे। और जब मैं उनसे पूछता कि इससे क्या होने वाला है तब उनका जवाब होता था कि Law of Attraction ऐसे ही काम करता है। किसी चीज की इच्छा करो, उसके बारे में सोचो और बस सोचते ही रहो.. तब वो चीज आपको मिल जाएगी। दोस्तों की कही गयी ऐसी बातें मैंने कभी भी अपनी लाइफ में Follow नहीं की। आज भी उनका mindset ऐसा ही है। क्योंकि हमारे दिमाग की कंडिशनिंग हमारे बचपन से होनी शुरू हो जाती है। आप जैसे बचपन में सोचते और करते हैं वो आप जवानी और बुढ़ापे में भी दोहराते हैं। अब भी स्कूल की तरह ही वे इच्छाएं रखते हैं और उन्हें कभी सफलता नहीं मिलती।

एक दोस्त जो अपने फ़ोन पर 1 लाख रूपये प्रतिमाह कमाने का टारगेट लिखकर उसे Wallpaper सेट किये रहता है, और वो ये सोचता है कि जब भी वह फोन को देखेगा तो उसकी ख्वाहिश पूरी होती नजर आएगी। मैंने यहाँ भी उसकी एक ख़ास बात नोट की है, कि वह अपने फ़ोन पर 1 लाख के अपने बैंक क्रेडिट को स्क्रीन शॉट कर wallpaper रखता है, पर उसका वह wallpaper हमेशा same ही रहता है बस अगले माह की तारीख बदल जाती है। मैंने एक बार उससे पूछा, हर महीने तारीख बदलती है इसका मतलब हर महीने जो टारगेट लिखा है वह अचीव होता है। उसनें कहा, ये तो बस मैं अपना जोश बढ़ाने के लिए रखता हूँ बाकी इसके आधा का आधा भी नहीं हो पाता, लेकिन मैं निराश नहीं होता क्योंकि मेरी इच्छा है कि एक दिन ये ये टारगेट पूरा होगा क्योंकि Law of Attraction ऐसे ही काम करता है… उसका बचपन से बोला गया वही डायलोग… 98 प्रतिशत लाने की इच्छा रख 45 प्रतिशत में मुश्किल से पास होना, 1 लाख महीने के कमाने का लक्ष्य रख 20 हजार मुश्किल से कमा पाना और सिर्फ अपनी इच्छाशक्ति के दम पर बड़ी बड़ी बातें करना… ये असफल होने की सबसे पहली निशानी होती है। याद रखिये, सफल लोग बातें कम और काम ज्यादा करते हैं।

हाँ ये बात बिलकुल सच है कि हमारे अन्दर किसी चीज को पाने या हासिल करने की इच्छा होनी ही चाहिए, क्योंकि इच्छा एक शुरूआती बिंदु है। लेकिन सिर्फ इच्छा करने से कोई व्यक्ति सफल नहीं बनता। आपके हाथ में मूंगफली का बीज है, आपकी इच्छा है कि आप इस बीज को बोयें और मूंगफली की खेती करें। क्या हाथ में बीज को पकड़े रहने और इच्छा करने से ही कि फसल तैयार हो जाएगा। आपको खेत में जाना होगा, बीज बोनी होगी, खाद-उर्वरक देना होगा, फसल की देखभाल करनी होगी, पानी सींचना होगा और खेती से सम्बन्धित जो भी जरूरी चीजें हैं उनका पालन करना होगा तभी जाकर आप अपने खेत में लहलहाता हुआ फसल देख सकते हैं । पर यदि इसी सोच में डूबे रहेंगे कि बिना कुछ किए इच्छा करने से मात्र से सब हो जाएगा तो शायद आप सबसे बड़े मुर्ख हैं जो 98 प्रतिशत की इच्छा रखकर 45 प्रतिशत प्राप्त करता है और उसकी तरह अंत में कहता है कि आकर्षण का सिद्धांत ऐसे ही काम करता है।

Image Credit : pixabay.com

प्रत्येक व्यक्ति अपनी लाइफ में सफलता प्राप्त करना चाहता है लेकिन क्या इच्छा मात्र से ही वह सफल हो सकता है, बिलकुल नहीं! आज मैं आपके साथ कुछ आसान स्टेप्स के बारे में बात करना चाहता हूँ इससे आप अपनी लाइफ में सफलता का दरवाजा खोल सकते हैं।

बड़े नहीं छोटे टारगेट बनाएं

कोई भी विडियो गेम जो हम खेलते हैं या कोई भी खेल उसमें हमें लेवल 1 से ही शुरुआत करनी होती है। हम शुरू में ही सीधे लेवल 10 को नहीं खेल सकते। हमारी लाइफ में भी यही लेवल्स हैं। हम सोचते हैं कि लक्ष्य बड़ा होगा तब जाकर हम सफल बनेंगे। हाँ ये बिलकुल सही बात है लेकिन मैं यहाँ ये कहना चाहूँगा कि हम बड़े लक्ष्यों को छोटे-छोटे टुकड़ों में बाँटें और लेवल 1 से लेवल 10 तक पहुँचने की कोशिश करें। हम जैसे जैसे अपने लेवल पार करते जाते हैं, हमारा आत्मविश्वास बढ़ते जाता है और धीरे-धीरे हम बड़े लक्ष्यों की तरफ अपने कदम बढ़ा रहे होते हैं। आप अपनी लाइफ के गेम में सफल होने की इच्छा रखते हैं, तो सबसे पहले आपको उस गेम को समझना होगा, इच्छा करने से ही कि बिना खेले आप जीतेंगे, यह एक बड़ी बेवकूफी होगी बेहतर होगा कि आप खेलें और लेवल 1 से उस गेम की बारीकियों को समझने की कोशिश करें ताकि जैसे जैसे लेवल बढ़ता जाए आप भी आगे बढ़ते जाएं।

तुरंत एक्शन लेना सीखो

ज्यादातर लोग लक्ष्य बनाते हैं, और लक्ष्य बनाते ही उसके बारे में सोचने लगते हैं कि टारगेट अचीव होने के बाद क्या होगा! मैं कितना सफल हो जाऊंगा, लोग मेरी तारीफें करेंगे और बड़े-बड़े मनमोहक ख्यालों में खो जाएँगे लेकिन याद रखिये यदि आपको अपनी मंजिल तक पहुंचना है तो उसके लिए आपको एक्शन लेना ही होगा।  उस काम को करना ही होगा जिसे करके आप सफल बनेंगे। बैठे-बैठे सोचने मात्र से आप अपने सफलता का दरवाजा नहीं खोल सकते इसके लिए एक्शन लेना जरूरी है। आपको सफलता के दरवाजे तक चलकर जाना ही पड़ेगा, दरवाजे पर लगे ताले को खोलना होगा और तब जाकर आप सफल बनेंगे।

मेहनत का कोई विकल्प नहीं

आपको पता है कि सफलता के दरवाजे की चाबी आपके द्वारा की गयी कड़ी मेहनत है। आप बिना मेहनत किये कभी भी सफलता के दरवाजे को नहीं खोल सकते। क्योंकि महान लोगों ने मेहनत पर विश्वास किया है, वे कभी भी इच्छाओं के सहारे नहीं बैठे हैं।

कमिटमेंट की शक्ति को पहचाने

आपने सलमान खान का वो डायलोग तो सुना ही होगा कि एक बार जब मैं कमिटमेंट कर देता हूँ तब मैं खुद की भी नहीं सुनता। आपको अपनी लाइफ में वचनबद्धता लानी होगी। जब आप किसी चीज को करने का कमिटमेंट कर देंगे और उसे पूरा करके ही दम लेंगे तब आप सफल हो जाएँगे। इसलिए जीवन में आगे बढ़ना है तो कमिटेड रहिये, ठान लीजिये और उसे पूरा कीजिए।

सीमित समय

हम सबकी लाइफ में 24 घंटों का ही समय है, महान और सफल लोग अपने समय को सीमित समझकर काम करते हैं। जबकि सिर्फ इच्छा रखने वाले लोग यही सोचते हैं कि अभी तो बहुत समय बाकी है । वे अपना टाइम बेकार की चीजों में लगाते हैं, दिन भर समय बर्बाद करने के बाद उन्हें पता चलता है कि काश उन्होंने फालतू के समय का सही उपयोग कर लिया होता। लेकिन वे दुसरे दिन फिर वही गलती दुहराते हैं और सोच में ही उनकी जिंदगी कब खत्म हो जाती है पता नहीं चलता। अपने समय का सदुपयोग कीजिये, यदि आप सफलता चाहते हैं तो…

कुछ बड़े फैसले लीजिये

यदि हमें सफलता का दरवाजा खोलना है तो हमें अपनी लाइफ के फैसले खुद लेने होंगे। वो कौन सी चीजें हैं जो आपको सफल होने नहीं दे रही.. उन बातों का पता करिए, गलत संगति को पूरी तरह से छोड़ दीजिये, हम इसीलिए लाइफ में आगे नहीं बढ़ पाते क्योंकि हमारे लिए बेकार के यार-दोस्त मायने रखते हैं। कुछ ऐसे बड़े फैसले लें जिससे आप अपनी लाइफ को पहले से बेहतर बना सकें, अपनी वही गलतियाँ दुबारा न दोहरा सकें और फैसले लेने की ताकत ही आपको एक दिन अपनी सफलता का दरवाजा खोलने में मदद करेगी ।

—————————–

कृपया इस लेख पर अपने विचार कमेन्ट के माध्यम से हम तक पहुंचाएं अथवा हमें hamarisafalta@gmail.com पर मेल करें।

धन्यवाद 🙂

Leave a Comment